Meena Kumari biography in hindi | Meena Kumari’s age, movies, songs….

31

Meena Kumari : आज जानिके 1 अगस्त को Meena Kumari जी का 85वां जन्मदिन है | क्या आप जानते है कि कौन है मीना कुमारी ? अगर नहीं तो आज आपको हम इस article में उनसे जुडी कुछ ख़ास  बाते ( Meena Kumari biography in hindi ) बताने जा रहे है | मीना जी एक ज़माने में इसी अदाकारा थी जिन्हें आज भी बॉलीवुड में याद किया जाता है |

advertisement

वह जितनी ज्यादा मशहूर थी उनसे कई गुना ज्यादा उन्हों ने अपनी जिन्दगी में दुःख भी जेला था | जिस कारण उन्हें The Tragedy Queen के नाम से जाना जाता था |

Meena Kumari Biography in hindi

 

Meena Kumari biography in hindi

Meena Kumari biography in hindi

मीना कुमारी का जन्म

मीना जी का जन्म साल  1933 में महाराष्ट्र में हुआ | उनका जन्म एक गरीब परिवार में हुआ था | ऐसा कहा जाता है कि जब मीना का जन्म हुआ था , तब उनके घर वालो ने उन्हें अनाथालय में छोड़ दिया था | लेकिन कुज समह बाद  उनके घरवालो को अपनी गलती का एहसास हुआ और मीना को घर वापिस ले आये |

जब मीना का जन्म हुआ तब उनका नाम महजबीन बानो रखा गया , लेकिन मीना ने फिल्मो में काम करने के लिए अपना नाम बदल कर Meena Kumari रख लिया था |

 

मीना कुमारी की सिक्षा

मीना ने छोटी आयु में ही फिल्मो में काम करना शुरू कर दिया था , जिसके चलते वह अपनी पढाई पूरी नहीं पाई | लेकिन बाद में मीना ने खुद के लिए एक टीचर रखा और आपकी पढाई पूरी की |

 

परिवार

मीना कुमारी की नानी हेमसुन्दरी मुखर्जी पारसी रंगमंच से जुड़ी हुईं थी। बंगाल के प्रतिष्ठित टैगोर परिवार के पुत्र जदुनंदन टैगोर (1840-62) ने परिवार की इच्छा के विरूद्ध हेमसुन्दरी से विवाह कर लिया। 1862 में दुर्भाग्य से जदुनंदन का देहांत होने के बाद हेमसुन्दरी को बंगाल छोड़कर मेरठ आना पड़ा। यहां अस्पताल में नर्स की नौकरी करते हुए उन्होंने एक उर्दू के पत्रकार प्यारेलाल शंकर मेरठी (जो कि ईसाई था) से शादी करके ईसाई धर्म अपना लिया।

 

मीना कुमारी की शादी

मीना कुमारी की शादी उस ज़माने के जाने-माने फिल्म निर्देशक कमाल अमरोही से हुई जो फिल्म महल की सफलता के बाद निर्माता के तौर पर अपनी अगली फिल्म अनारकली के लिए नायिका की तलाश कर रहे थे। आपको बता दे कि मीना ने  कमाल अमरोही से लव मैरिज की थी | जब एक सड़क दुर्घटना में मीना बुरी तरह जख्मी थी तब कमाल अमरोही उन्हें हस्पताल में मिलने के लिए आया करते थे | जिसके चलते वह एक दुसरे के करीब आ गए और दोनों ने एक दुसरे से शादी कर ली |

 

मीना कुमारी फ़िल्मी सफ़र

मीना ने छोटी उमर में ही फिल्मो में काम करना शुरू कर दिया था | लेकिन साल 1952 में आई फिल्म बैजू बावरा ने मीना कुमारी के फिल्मी सफ़र को नई उड़ान दी। मीना कुमारी द्वारा चित्रित गौरी के किरदार ने उन्हें घर-घर में प्रसिद्धि दिलाई। जिसके बाद मीना कुमारी ने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा ओर् एक के बाद एक hit फिल्मे करती गयी | उन्हों ने ज्यादातर दुखी किरदार वाली फिल्मो में काम किया |

ये  भी पड़े : कटरीना कैफ की सबसे hot अनदेखी तस्वीरे

शादी के बाद भी मीना ने फिल्मो में काम करना नहीं छोड़ा और लगातार फिल्मे करती रही | इस दोरान वह एक मशहूर अभिनेत्री बन चुकी थी | यही बात उनके और कमाल अमरोही के बीच दरार पैदा कर रही यही |

कमाल अमरोही को मीना का नए लोगो से मिलना अच्छा नहीं लगता था | कमाल अमरोही ने मीना के उपर कई पाबंदियां लगा दी थी | कमाल अमरोही ने मीना को शाम को 6 बजे से पहले  तक ही  काम करने की इजाजत दि थी , और साथ में मेकअप रूम में  किसी पुरुष के आने की भी पाबन्दी लगा दी थी |

Meena Kumari biography in hindi

मीना कुमारी की मौत

फ़िल्म पाक़ीज़ा के रिलीज़ होने के तीन हफ़्ते बाद मीना कुमारी की तबीयत बिगड़ने लगी। 28 मार्च 1972 को उन्हें बम्बई के सेंट एलिज़ाबेथ अस्पताल में दाखिल करवाया गया।

31 मार्च 1972, गुड फ्राइडे वाले दिन दोपहर 3 बजकर 25 मिनट पर महज़ 38 वर्ष की आयु में मीना कुमारी ने अंतिम सांस ली। पति कमाल अमरोही की इच्छानुसार उन्हें बम्बई के मज़गांव स्थित रहमताबाद कब्रिस्तान में दफनाया गया।

मीना कुमारी में अपने 39 साल के कैरियर में 100 के करीब फिल्मो में काम किया | उस समह वह एक इसी अभिनेत्री थी  जिसने सबसे ज्यादा hit फिल्मे दी थी | उनकी फिल्मो और गानों  को  लोग आज भी खूब पसंद करते है |

 

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments
Loading...