आपका भरोसा, हमारी पहचान

Plus Minus – A short film by Bhuvan Bam & Divya Datta

140

इंडिया के बहूत ही मशहूर Youtuber Bhuvan Bam इनदिनों एक short film से काफी चर्चा में है. Bhuvan Bam ने बॉलीवुड की मशहूर एक्ट्रेस Divya Datta के साथ एक short फिल्म Plus Minus में काम किया , जिसको इन्टरनेट पर खूब पसंद किया जा रहा है.

advertisement

फिल्म की popularity का इसी बात से अंदाज़ा लगाया जा सकता है कि, फिल्म के publish होने के 5 hours के बीतर ही 20 lakh से ज्यादा बार देखा जा चूका है. इस short फिल्म को भुवन बम ने अपने YouTube चैनल BB Ki Vines पर upload किया है.

आपको बता दे कि BB Ki Vines चैनल के Subscribers 10 Millions से भी ज्यादा है.

क्या है फिल्म Plus Minus में खास ?

फिल्म को खूब पसंद भी किया जा रहा है, जिसका सबसे बड़ा कारण है – फिल्म की स्टोरी | ये फिल्म इंडियन आर्मी के महान सोल्जर Baba Harbhajan Singh ji के बारे में है. इस फिल्म में Bhuvan Bam पगड़ी पहने हुए देखाई दे रहे है, जिसकी सोशल मीडिया पर खूब चर्चा हो रही है.

Plus Minus Movie, Bhuvan Bam

Bhuvan Bam को सरदार के किरदार में देखने के लिए उनके fans बहूत excited है. फिल्म में भुवन बम Baba Harbhajan Singh का किरदार निभा रहे है और साथ में Divya Datta एक पंजाबी women के रूप में किरदार निभा रही  है. Plus Minus में दोनों की एक्टिंग  खूब पसंद की जा रही है.

फिल्म की कहानी Baba Harbhajan Singh के उपर आधारित है, जिन्हें शयद बहूत कम लोग जानते होंगे.

 

कौन है Baba Harbhajan Singh ?

Baba Harbhajan Singh भारतीये सेना एक बहादुर सेनिक थे. उनका जन्म 30 अगस्त 1946 को एक सिख परिवार में हुआ. 9 फरवरी 1966 को भारतीय सेना के पंजाब रेजिमेंट में सिपाही के पद पर भर्ती हुए थे.

वो एक ऐसे सेनिक थे जिन्हों ने मरने के बाद भी देश की सेवा करते रहे. जी हाँ, ये बात बिलकुल सच है. 4 अक्टूबर 1968 को खच्चरों का काफिला ले जाते वक्त, पूर्वी सिक्किम के नाथू ला पास के पास उनका पांव फिसल गया और घाटी में गिरने से उनकी मृत्यु हो गई. पानी का तेज बहाव उनके शरीर को बहाकर 2 किलोमीटर दूर ले गया.

सबसे हेरान करने वाली बात ये थी कि मृत्यु बाद Baba Harbhajan Singh एक दिन अपने सेनिक दोस्त के सुपने में आये और उन्हें अपने शव के बारे में बताया. जब अगले दिन उनका दोस्त सेना के साथ Baba Harbhajan Singh की बताई हुयी जगह पर पहुचा, तो शव सटीक उसी जगह पर बर्फ में दबा हुआ मिला.

इसके बाद भी वह भारतीये सेनिको के सुपनो में आते और उन्हें दुश्मनों की शाजिश के बारे में बताते. इसी के चलते भारत सरकार ने उन्हें 1970 में परमवीर चक्र भी दिया. सरकार उन्हें बाकाईदा शुट्टी भी देती और जब देश को दुश्मनों का खतरा होता तो उनकी छुटी भी कैंसिल कर दी जाती, 2006 में Baba Harbhajan Singh  को सेना से रिटायर किया गया.

इसी लिए Baba Harbhajan Singh  एक ऐसे सेनिक थे, जिन्होंने मरने के बाद भी देश की सेवा  की. आज भी उनके नाम पर मंदिर बनाया गया है. जिसमे भारतीये सेनिक उनकी पूजा करते है और उन्हें अपना भगवान् मानते है.

यहाँ आप फिल्म को देख सकते है 🙂


आज हर कोई फ़िल्मी hero को तो जानता है पर अफ़सोस हमारे देश के लिए जान देने वाले Real Hero को कोई नहीं जनता.

हमारे देश में लोग किसी बॉलीवुड hero की फिल्म को तो खूब शेयर करते है , लेकिन इन Real Hero की फिल्म को कोई भी शेयर नहीं करता.

 

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.