आपका भरोसा, हमारी पहचान

Torrent kya hai॥ Torrent kaise kaam karta hai full information

अगर आप movies और  games  के  शौकीन  हैं  तो  आपने  torrent का  नाम  जरूर  सुना  होगा  और आपने  torrent से फाइल  डाउनलोड  भी  की   होंगी।  मगर आपने कभी सोचा  है के Torrent kya hai और आखिर Torrent kaise kaam karta hai.

advertisement

Torrent kya hai. 

अगर हम शार्ट में समझे के Torrent kya hai तो हमे पता चलेगा के torrent एक search engine है जो हमे फाइल्स जैसे की मूवीज, गेम्स और सॉफ्टवेयर के डाउनलोड का एड्रेस (link) provide करवाता है।

torrent kya hai

मगर मूवीज और सॉफ्टवेयर के डाउनलोड links तो और भी websites provide कराते hain तो इन नार्मल websites और torrent में क्या अंतर है, आइए समझते हैं।

Read this also – Google adsense approve kaise kare

तो उससे पहले हम थोड़ा सा website और server के बारे में समझ लेते हैं। जैसे एक website है xyz.com इस वेबसाइट से आप movies डाउनलोड करते हैं। तो वो मूवीज उस   website के server पे कहीं न कहीं तो राखी ही होंगी तभी हम इसे डाउनलोड कर पाते हैं।

मगर torrent मे ऐसा नहीं है जी हाँ actually torrent का कोई server ही नहीं है जहाँ torrent अपनी फाइल्स जैसे  मूवीज, सॉफ्टवेयर या गेम्स को स्टोर करता हो।

तो आप सोच रहे होंगे के जो files जैसे मूवीज, सॉफ्टवेयर और गेम्स को हम डाउनलोड करते हैं वो कहाँ स्टोर हैं।

Torrent kaise kaam karta hai.

Torrent का कोई server नहीं है तो torrent फाइल कहाँ से लाता है जब हम डाउनलोड करते हैं, तो उसका जवाब ये है जब कोई बंदा फाइल डाउनलोड करता है वही उस फाइल को अपलोड भी कर सकता है जैसे मे एक सॉफ्टवेयर डाउनलोड करता हूँ साथ के साथ मे उस फाइल को अपलोड भी कर सकता हूँ ।

Torrent kya hai aur torrent kaise kaam karta hai.

तो अगर हम कहें के torrent एक peer 2 peer डाउनलोड करने का जरिया है तो ये गलत नहीं होगा। peers 2 peers मतलब के एक कंप्यूटर से दुसरे कंप्यूटर और फिर ये प्रोसेस आगे बढ़ता रहता है। जिसको हम और अच्छे से समझे तो हमें seeders, leechers aur peers को सही से समझना पड़ेगा। 

leechers seeders aur Peers kya hai

आप जब भी टोरेंट से डौन्लोडिंग करने जाते हैं तो आपने जरूर ही वहां पे leecher, seeders और peers के बारे मे पढ़ा होगा। और वहां कुछ नंबर्स भी लिखे होते हैं आखिर वो नंबर्स क्या हैं  जो leechers और seeders के आगे लिखे होते हैं

Seeders – Seeder वो लोग होते हैं जो torrent से फाइल डाउनलोड करते हैं और फिर फाइल के डाउनलोड होने के बाद उस फाइल को अपलोड भी करते हैं जिससे उस फाइल को और भी लोग डाउनलोड कर सके।.

torrent seeders, leechers, peers

Peers – peers मतलब वो लोग जो साथ के साथ (At the same time) फाइल को डौन्लोडिंग और अपलोडिंग एक साथ करते हैं।

torrent peers

Leechers – ये वो लोग होते हैं जो फाइल मीन्स सॉफ्टवेयर या मूवीज को डाउनलोड तो कर लेते हैं मगर फिर उसको अपलोड नहीं करते।

पूरा torrent इन तीन terms पे ही चल रहा है। अब इसके बाद हम torrent के clients मतलब utorrent और bittorrent के बारे मे जानते हैं।

Read this also – blogspot blog ko seo friendly kaise banaye

utorrent aur bittorrent kya hai.

जब हम torrent से फाइल डाउनलोड करते हैं तो हमे पहले टोरेंट के किसी client को डाउनलोड करना पड़ता है, यानी वो सॉफ्टवेयर जिसके through हम torrent से डौन्लोडिंग karte हैं।

जैसे जब हम torrent से कोई सॉफ्टवेयर या मूवी डाउनलोड करते हैं तब वो फाइल डाउनलोड न होकर फाइल की location डाउनलोड होती है। और फिर उस फाइल को डाउनलोड करने ले लिए हम torrent के किसी client को डाउनलोड करते हैं, जैसे Utorrent ya bittorrent।

U torrent aur bitTorrent kya hai

Utorrent aur bittorrent 2 मोस्ट इम्पोर्टेन्ट  torrent clients जिसके through हम torrent से सॉफ्टवेयर और गेम्स को डाउनलोड करते हैं, जैसे हमने उस सॉफ्टवेयर की location तो डाउनलोड कर्ली मगर अब हम उस फाइल को डाउनलोड करना चाहते हैं।

तो हमें उस फाइल पे डबल क्लिक करना होगा जिससे वो फाइल हमे torrent के clients मतलब utorrent aur bittorrent तक redirect कर सके और डौन्लोडिंग शुरू हो सके।

 

आशा करता हूँ की आपको torrent kya hai और torrent kaise kaam karta hai सही से समझ आ गया होगा, और अगर आपका अभी भी कोई doubt है तो आप हमसे निचे कमेंट के through पूछ सकते हैं।

3.5 (70%) 4 votes

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.